ऑस्ट्रेलिया के ऑलराउंडर शेन वॉटसन ने रविवार को चल रहे आईपीएल 2020 में चेन्नई सुपर किंग्स की यात्रा के अंत में फ्रेंचाइजी क्रिकेट से अपने सन्यास की घोषणा की है।

तीन बार के चैंपियन आईपीएल के इतिहास में पहली बार लीग चरण में प्रतियोगिता से बाहर हो गए। एमएस धोनी की अगुवाई वाली सीएसके ने अपने अंतिम मैच में किंग्स इलेवन पंजाब को हराकर प्रतियोगिता का अंत जीत के साथ किया।

और सीएसके द्वारा अपना आखिरी गेम खेलने के तुरंत बाद, वाटसन ने अपने साथियों से कहा कि वह “सभी प्रकार के क्रिकेट से संन्यास ले लेंगे ।” उन्होंने 2016 में अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट से पहले ही संन्यास ले लिया था।

CSK ने उन्हें आईपीएल २०१८ की नीलामी में खरीदा और उन्होंने सलामी बल्लेबाज के रूप में अपनी भूमिका निभाई। वाटसन ने आईपीएल 2018 के फाइनल में सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ शतक लगाया और सीएसके को अपना तीसरा आईपीएल खिताब जीतने में मदद की ।

सीएसके से पहले, शेन वॉटसन राजस्थान रॉयल्स और रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के लिए निकले थे और 2008 में आईपीएल इतिहास के पहले एमवीपी थे। उन्होंने 2013 में दूसरी बार यह पुरस्कार को जीता, जबकि वह रॉयल्स के लिए ही खेल रहे थे, और दो बार पुरस्कार जीतने वाले पहले खिलाड़ी बने।

शेन वॉटसन 3874 रन और 92 विकेट के साथ आईपीएल के एक आइकन खिलाडी रहे हैं।