साल 2020 का एशिया कप की मेजबानी पाकिस्तान के पास है, पर भारत और पाकिस्तान के रिश्तों के चलते, भारत का यह टूर्नमेंट खेलने पाकिस्तान जाने की संभावना ना के बराबर है | पिछला एशिया कप जो 2018 में खेला गया था, उसकी मेजबानी भारत को करनी थी, पर दोनो देशों के रिश्तो को देखते हुए, संयुक्त अरब अमीरात ने इसकी मेजबानी की थी|

पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (PCB) ने अगले साल सितंबर में होने वाले एशिया कप (Asia Cup) में प्रतिनिधित्व के लिए भारतीय क्रिकेट बोर्ड (BCCI) के पुष्टि करने की समय सीमा जून 2020 तक रखी है|

पीसीबी (PCB) के सीईओ वसीम खान (Wasim Khan) ने साक्षात्कार में कहा, “हमें देखना होगा कि क्या भारत एशिया कप के लिए पाकिस्तान आने को सहमत होता है या नहीं. अगले साल सितंबर के लिए अभी काफी समय है लेकिन जून तक हमें पता होना चाहिए कि यह टूर्नामेंट कहां होगा और भारत के हिस्सा नहीं लेने के कारण इसकी मेजबानी यहां हो पाती है या नहीं| यह मेजबान को बदलने के लिए पीसीबी या आईसीसी का विशेषाधिकार नहीं है क्योंकि यह एशियाई क्रिकेट परिषद (एसीसी) का निर्णय था|”

लेकिन वसीम खान ने भारत को एक अल्टीमेटम भी दिया कि, “अगर भारत एशिया कप के लिए पाकिस्तान नहीं आता है, तो हम वहां 2021 टी 20 विश्व कप में भाग लेने से भी मना कर देंगे।”

पिछले हफ्ते, यह पता चला कि BCCI पाकिस्तानी धरती पर क्रिकेट नहीं खेलने के अपने फैसले से आगे नहीं बढ़ी, जिसके परिणामस्वरूप पाकिस्तान ने एशिया कप के लिए मेजबानी के अधिकार खो दिए।

(पीटीआई सौजन्य से)